Uncategorized ज़रा हटके

UP:प्रियंका गांधी का ‘कांग्रेस फाइट्स कोरोना’ ग्रुप सरकारी मदद से पहले पहुंचाता मदद

यूपी में प्रियंका गांधी का ‘कांग्रेस फाइट्स कोरोना’ ग्रुप सरकारी मदद से पहले पहुंचाता मदद

यूपी में कांग्रेस महासचिव और प्रभारी उत्तर प्रदेश श्रीमती प्रियंका गांधी ने कोरोना काल में प्रदेश की जनता को मदद पहुंचाने के लिए कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रभारी सचिवों प्रदेश अध्यक्ष श्री अजय कुमार लल्लू सहित जिला अध्यक्षों , शहर अध्यक्षों , एनएसयूआई , युवक कांग्रेस , महिला कांग्रेस और सोशल मीडिया विभाग सहित अन्य प्रकोष्ठों के पदाधिकारियों का एक व्हाट्सएप ग्रुप बनाकर सहायता का काम प्रारंभ किया । तालाबंदी के दौरान गांव गांव सहायता पहुंचाने के लिए यह ग्रुप धीरे धीरे राष्ट्रीय मदद का जरिया बन गया इसकी सफलता से उत्साहित कांग्रेस ने एक राष्ट्रीय हेल्प लाइन भी चालू कर दी ।

कैसे होता है काम ?

उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा जारी किए गए हेल्पलाइन नंबरों पर मदद के लिए कॉल आने पर उसे इस ग्रुप में प्रसारित किया जाता है । ‘कांग्रेस के सिपाही’ संबंधित शहर और जिला अध्यक्ष उस सूचना के आधार पर व्यक्ति से संपर्क कर अपनी टीम के द्वारा उसे राशन , भोजन ,दवा आदि की मदद पहुंचाते हैं । प्रदेश से बाहर की कमान एनएसयूआई , यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं द्वारा पहुंचाई जाती है । और उस मदद के बारे में वे उसकी पुष्टि करते हैं।

कांग्रेस की सांझी रसोई

प्रियंका गांधी के निर्देशन में पूरे प्रदेश में कांग्रेसी कार्यकर्ताओं द्वारा सांझी रसोई चलाई जा रही है । जिसके द्वारा लगातार जरूरतमंदों को भोजन वितरित किया जा रहा है । प्रियंका गांधी स्वयं कई जगह पर राशन की सामग्री उपलब्ध कराती हैं और बाकी स्थानीय कार्यकर्ता उस राशन का इंतजाम करते हैं ।

सोशल मीडिया विभाग की बड़ी भूमिका

उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सोशल मीडिया विभाग के प्रमुख मोहित पांडे और उनकी टीम के सदस्यों की इस अभियान में जिम्मेदारी तय की गई बुंदेलखंड का प्रभार देख रहे रनीश कबीर और पूर्वी उत्तर प्रदेश के लिए अनुज शुक्ला सोशल मीडिया पर मांगी गई मदद की सूचना को लेकर ग्रुप में डालते हैं और कार्यवाही के बाद उसकी खबर सोशल मीडिया के माध्यम से देते हैं । सोशल मीडिया विभाग की टीम के द्वारा दी गई सूचना के आधार पर गोरखपुर की थैलेसीमिया से पीड़ित लड़की को और अमेठी के युवक अविनाश सिंह की बीमारी का संज्ञान स्वयं प्रियंका गांधी ने लिया था और न केवल सहायता उपलब्ध कराई बल्कि हाल-चाल भी पूछती रहीं ।

प्रियंका गांधी करती हैं मॉनिटरिं

प्रियंका गांधी इस अभियान को लेकर काफी सजग हैं वह कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ाने और अन्य जरूरतों के लिए इस ग्रुप पर खुद संवाद करती हैं । और देर रात तक खुद निर्देश देती हैं । कांग्रेस के बढ़ते अभियान से सरकार और प्रशासन पर नैतिक दबाव रहता है जिससे वह भी सहायता कार्यक्रम चलाने के लिए वाध्य होते हैं ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *