Uncategorized

फिल्म के लिए मूल संगीत बनाने में कोई भी दिलचस्पी नहीं लेता : अर्जुन कानूनगो

नई दिल्ली, 7 जुलाई (आईएएनएस)। गायक अर्जुन कानूनगो का कहना है कि हिन्दी सिनेमा में संगीत कलाकारों पर कम ध्यान दिया जा रहा है।

उन्होंने आईएएनएस से कहा, “मुझे लगता है कि संगीत कलाकारों पर ध्यान देने में कमी हो रही है। सब कुछ अभिनेताओं और पटकथा पर केंद्रित है। मैंने अभी तक कुछ ही फिल्में की हैं और मैं आपको बता सकता हूं कि कोई भी वास्तव में फिल्म के लिए मूल संगीत बनाने में दिलचस्पी नहीं रखता है।”

गायक को लगता है कि लॉकडाउन ने रचनात्मकता को वापस लाने में मदद की है।

उन्होंने कहा, “अब आपको अगले साल कई स्क्रिप्ट के साथ मूल संगीत भी मिलेगा क्योंकि लॉकडाउन ने हमें दिखाया है कि हमारी रचनात्मकता में कहां कमी थी और मुझे लगता है कि अब इस मामले में चीजें बदलने जा रही हैं।”

कानूनगो का कहना है कि लॉकडाउन के बीच वे “सुपर प्रोडक्टिव” रहे और उन्होंने 12 ट्रैक बनाए हैं।

अर्जुन ने आईएएनएस को बताया, “यह आश्चर्यजनक है कि मैं लॉकडाउन में आत्मनिर्भर बन गया हूं। लॉकडाउन ने मुझे और अधिक फोकस्ड किया। चूंकि मेरे पास करने के लिए और कुछ नहीं था इसलिए मैं सुपर प्रोडक्टिव रहा और मैंने लगभग 12 ट्रैक लिखे हैं। मैं 2021 के लिए तैयार हूं।”

अर्जुन ‘खून चूस ले’, ‘ला ला ला’ और ‘बाकी बातें पीने बाद’ जैसे हिट गानों के लिए जाने जाते हैं।

–आईएएनएस

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *