चुनाव से पहले हिंसा पर अंकुश लगाने के लिए जाम्बिया के राष्ट्रपति ने सेना तैनात की

लुसाका, 2 अगस्त (आईएएनएस)। जाम्बिया के राष्ट्रपति एडगर लुंगु ने आम चुनावों से पहले हुई हिंसा को रोकने में पुलिस की मदद करने के लिए सेना और अन्य बलों की तैनाती की अनुमति दी है।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, लुंगु ने रविवार को एक सोशल मीडिया पोस्ट में कहा कि उन्होंने सेना, जाम्बिया वायु सेना और जाम्बियन राष्ट्रीय सेवा को देश के कुछ हिस्सों में 12 अगस्त को होने वाले चुनाव से पहले सुरक्षा स्थिति से निपटने में पुलिस की मदद करने की अनुमति दी है।

राष्ट्रपति ने कहा, कानून और व्यवस्था बनाए रखना पुलिस का दैनिक काम है, लेकिन कभी-कभी उन्हें अन्य सुरक्षा विंग से मदद की जरूरत होती है। मैंने यह सुनिश्चित करने के लिए यह कदम उठाया है कि चुनावी प्रक्रिया में कोई हस्तक्षेप नहीं हो।

राष्ट्रपति ने कहा कि देश की राजधानी लुसाका में सुरक्षा बलों को पहले ही तैनात कर दिया गया है, जहां पिछले दो दिनों में हिंसा हुई है, जिसके परिणामस्वरूप दो लोगों की मौत हो गई है।

जाम्बिया के नेता ने दुख व्यक्त किया कि लोग अपने लोकतांत्रिक अधिकारों का प्रयोग करने के दौरान मारे गए हैं और राजनीतिक दल के समर्थकों से अधिकतम संयम बरतने का आग्रह किया।

31 जुलाई को देश की मुख्य विपक्षी पार्टी, यूनाइटेड पार्टी फॉर नेशनल डेवलपमेंट (यूपीएनडी) के समर्थकों के साथ संघर्ष के बाद लुसाका में कन्यामा टाउनशिप में गवर्निग पैट्रियटिक फ्रंट (पीएफ) के दो समर्थकों की मौत हो गई।

दोनों पार्टियों के समर्थक आम चुनाव के लिए प्रचार करने के दौरान हिंसा में लिप्त हो गए, जिससे चुनावी निकाय को एक समय में अपने अभियान को स्थगित करने के लिए मजबूर होना पड़ा।

–आईएएनएस

आरएचए/आरजेएस

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *