देश बड़ी ख़बरें

कुलभूषण जाधव केस: फैसला आज, भारत को उम्मीद ICJ पाकिस्तान को ठहराएगा दोषी

नई दिल्ली।भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव पर आज इंटरनैशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (ICJ) अपना फैसला सुनाएगा। पाकिस्तान के सैन्य अदालत ने जाधव को कथित जासूस के आरोप में फांसी की सजा सुनाई थी, जिसके खिलाफ भारत ने ICJ में अपील की थी। भारत को उम्मीद है कि इंटरनैशनल कोर्ट पाकिस्तान को वियना संधि के उल्लंघन का दोषी ठहराएगा। माना जा रहा है कि कोर्ट कुछ ऐसा फैसला भी सुना सकता है जिससे भारत के रुख को मजबूती मिलेगी। नीदरलैंड के शहर हेग स्थित ICJ स्थानीय समय शाम 3 बजे जबकि भारतीय समयानुसार शाम 6.30 बजे फैसला सुनाएगा।
पढ़ें, जाधव पर पाक ने किए कई ‘खेल’, भारत को मिलेगी जीत?

भारत को मुख्य उम्मीद है कि जाधव को काउंसलर एक्सेस नहीं देने के पाकिस्तान के फैसले पर इंटरनैशल कोर्ट उसे वियना संधि के उल्लंघन का दोषी मानेगा। भारत ने जाधव के पक्ष में केस की नींव ही वियना संधि के उल्लंघन के आसपास रखी थी। भारत ने पाकिस्तान की सैन्य अदालत द्वारा जाधव को फांसी की सजा देने के तरीकों का भी पोल खोला था। भारत ने ICJ के सामने मांग रखी थी कि अगर जाधव को रिहा करना संभव नहीं हो तो उनका सिविल ट्रायल हो।

वियना संधि के आर्टिकल 36 के उल्लंघन पर फंसेगा पाकिस्तान!
भारत ने पाकिस्तान पर वियना संधि के आर्टिकल 36 के उल्लंघन का आरोप लगाते हुए जाधव की फांसी की सजा समाप्त करने की मांग की है। आर्टिकल 36 के उल्लंघन के आधार पर ICJ जाधव की फांसी की सजा खत्म करने और उनकी रिहाई का आदेश दे सकता है। भारत ने ICJ में दलील दी थी कि इस्लामाबाद ने जाधव की गिरफ्तारी के बाद इसकी जानकारी भारत को तत्काल नहीं देकर, जाधव को उसके अधिकार का इस्तेमाल नहीं करने देकर, उसे भारतीय काउंसलर को संपर्क नहीं करने, और भारत द्वारा लगातार आग्रह के बाद भी जाधव को भारतीय अधिकारियों से मिलने से रोककर वियना संधि का उल्लंघन किया था।

भारत को उम्मीद, पाकिस्तान साबित होगा दोषी
भारत और पाकिस्तान दोनों को यह पता है कि ICJ शायद ही कोई एकतरफा फैसला सुनाए। भारत चाहता है कि अगर जाधव की रिहाई संभव नहीं हो पाए तो उसका सिविल ट्रायल हो। दूसरी तरफ पाकिस्तान का कहना है कि अगर ICJ उसे वियना संधि के उल्लंघन का दोषी मानता है तो इस मामले में अदालती प्रक्रिया मौजूद है और पाकिस्तान हाई कोर्ट में अपील की जा सकती है।

अगर कोर्ट जाधव को भारतीय अधिकारियों से नहीं मिलने देने को लेकर पाकिस्तान को अंतरराष्ट्रीय कानून के उल्लंघन का दोषी ठहरता है तो यह भारत के लिए राहत भरी बात होगी और यह एक सांकेतिक जीत होगी।साभारएनबीटी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *