देश

देश में दिल्ली में अपराध सबसे ज्यादा

 नई दिल्ली, 22 अक्टूबर (आईएएनएस)| राष्ट्रीय राजधानी में दर्ज अपराधों में अभूतपूर्व वृद्धि से पता चलता है कि शहर दुष्कर्म व हत्या जैसे जघन्य अपराधों के मामलों के साथ धीरे-धीरे शिकागो में बदलता जा रहा है।

 यह अपराध मुंबई, चेन्नई, कोलकाता और बेंगलुरू की तुलना में करीब दोगुना व तिगुना हो गए हैं। नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) द्वारा सोमवार को जारी किए गए नए आंकड़ों से पता चलता है कि भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) के तहत अपराध के कुल पंजीकरण के मामले में 19 महानगरों में दिल्ली का हिस्सा 40 प्रतिशत से ज्यादा है। इन महानगरों में लखनऊ, पटना व कानपुर भी शामिल हैं।

एनसीआरबी ने साल 2017 के लिए डाटा जारी किया। आमतौर पर भारत के सभी 36 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के दूरस्थ स्थानों के आंकड़ों को एकत्र करने और कंपाइल करने में एक वर्ष से अधिक समय लगता है।

महिलाओं के खिलाफ अपराधों में दिल्ली की हालत और खराब होती दिख रही है, जब इसके नवीनतम आंकड़ों की तुलना मुंबई या कोलकाता से की गई। एनसीआरबी आंकड़ों के अनुसार, दिल्ली में 2017 में दुष्कर्म के 1,168 मामले दर्ज किए गए, जबकि मुंबई में 287 मामले इसी साल के दौरान दर्ज हुए। जयपुर 210 मामलों के साथ तीसरे नंबर पर, इंदौर 206 के साथ चौथे पर रहा। कोलकाता में 15 मामले व कोयंबटूर में 2017 में कोई दुष्कर्म का मामला नहीं दर्ज किया गया।

चार सौ हत्या के मामलों के साथ दिल्ली इसमें भी सबसे ऊपर है। बेंगलुरू (235 हत्याएं) दूसरे और पटना (183 हत्याएं) तीसरे नंबर पर है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *