विदेश

डिजिटल अर्थतंत्र चीन के विकास की नई प्रेरणा इंजन

 बीजिंग, 22 अक्टूबर (आईएएनएस)| गत वर्ष चीन में डिजिटल अर्थतंत्र का पैमाना देश के जीडीपी के करीब 34.8 प्रतिशत तक पहुंच गया, जो चीनी आर्थिक विकास की प्रेरणा का इंजन बन चुका है।

 इस साल विश्व इंटरनेट की स्थापना की 50वीं वर्षगांठ है, साथ ही चीन के इंटरनेट में प्रवेश करने की 25वीं वर्षगांठ है। बिग डेटा, इंटरनेट ऑफ थिंग्स, मोबाइल भुगतान और एआई आदि तकनीकी विकास से डिजिटल अर्थतंत्र चीन के समाज के हरेक क्षेत्र में प्रवेश कर चुका है। आंकड़े बताते हैं कि 2018 में चीन में डिजिटल अर्थतंत्र का पैमाना 3.13 खरब चीनी युआन तक पहुंचा, जिसमें 2017 की तुलना में 20.9 प्रतिशत का इजाफा हुआ है।

डिजिटल अर्थतंत्र का विकास करना चीनी अर्थतंत्र की वैश्विक प्रतिस्पर्धा शक्ति को उन्नत करने के लिए लाभदायक है। हाल में विश्व के विभिन्न देश वैज्ञानिक व तकनीक क्रांति और उद्योग क्रांति के मौके को पकड़कर बड़े हद तक डिजिटल अर्थतंत्र का विकास करने, आर्थिक विकास की प्रेरणा शक्ति को उन्नत करने और अंतर्राष्ट्रीय व्यापार व निवेश के स्तर को उन्नत करने की कोशिश कर रहे हैं।

इसी पृष्ठभूमि में यदि चीन तकनीक क्रांति की प्रवृत्ति को नहीं पकड़ता, तो भविष्य के अंतर्राष्ट्रीय डिजिटल अर्थतंत्र के प्रतिस्पर्धा में पीछे रहेगा। इसलिए चीन द्वारा डिजिटल अर्थतंत्र का विकास करने का मकसद तकनीक नवाचार क्षमता को उन्नत करना है और इंटरनेट, एआई और यथार्थ अर्थतंत्र के गहन रूप से जोड़ना है, ताकि चीनी अर्थतंत्र की वैश्विक प्रतिस्पर्धा शक्ति को उन्नत करने में अहम भूमिका अदा कर सके। लेकिन हमें यह भी देखना चाहिए कि डिजिटल अर्थतंत्र के तेज विकास से कुछ हद तक ढांचागत बेरोजगारी का जोखिम आ सकेगा।

इसलिए चीन को डेटा संसाधन की निहित शक्ति का पूरा प्रसार करने के साथ डिजिटल अर्थतंत्र के ढांचागत बंदोबस्त को तेज करना चाहिए, ताकि नयी प्रेरणा ऊर्जा से उच्च गुणवत्ता वाले विकास को आगे बढ़ाया जा सके।

(साभार-चाइना रेडियो इंटरनेशनल, पेइचिंग)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *