बिजनेस

केनरा, एचसबीसी, ओबीसी लाइफ इंश्यारेंस का मुनाफा 165 करोड़ रुपये रहा

 नई दिल्ली, 15 मई (आईएएनएस)| केनरा, एचएसबीसी और ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स लाइफ इंश्योरेंस का निवल मुनाफा वित्त वर्ष 2018-19 में 165 करोड़ रुपये रहा।

 तीन बैंकों के समूह की जीवन बीमा कंपनी बुधवार को वित्त वर्ष 2018-19 के अपने नतीजे की घोषणा करते हुए कहा कि उसके नए बिजनेस प्रीमियम की आय में पिछले साल के मुकाबले 19 फीसदी की वृद्धि हुई।

नए बिजनेस प्रीमियम से कंपनी की आय 2017-18 में 1228 करोड़ रुपये थी जो 2018-19 में बढ़कर 1460 करोड़ रुपये हो गई।

केनरा, एचएसबीसी और ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स लाइफ इंश्योरेंस ने बताया कि पिछले तीन वर्षो (2015-16 से 2018-19) में, कंपनी के व्यक्तिगत नए बिजनेस प्रीमियम (प्रीमियम आय भारित) में 27 फीसदी सालाना संयोजित दर से वृद्धि हुई है, जबकि समग्र उद्योग में 16 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई।

कंपनी का सकल रिटर्न प्रीमियम वित्त वर्ष 2017-18 के 2781 करोड़ रुपये से 26 फीसदी बढ़कर वित्त वर्ष 2018-19 में 3491 करोड़ रुपये हो गया है।

कंपनी ने कहा कि परिचालन व्यय अनुपात पिछले वर्ष में 13.3 फीसदी से बढ़कर 11.8 फीसदी हो गया है। कंपनी के अनुसार, 31 मार्च, 2019 तक इसका एसेट अंडर मैनेजमेंट (एयूएम) 14,854 करोड़ रुपये और कंपनी का सॉल्वेंसी मार्जिन 394 फीसदी रहा।

कंपनी ने बताया कि प्रधान मंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना (पीएमजेजेबीवाई) के तहत 25 लाख से अधिक लाइफ कवर किए गए।

वित्तीय नतीजों की घोषणा करते हुए, केनरा एचएसबीसी ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स लाइफ इंश्योरेंस के अध्यक्ष और केनरा बैंक के प्रबंध निदेशक व मुख्य कार्यकारी अधिकारी आर. ए. शंकर नारायणन ने कहा, “अपने सहयोगी बैंकों के माध्यम से, हम टियर-2 और 3 शहरों में ग्राहकों तक पहुंचने में सक्षम हुए हैं और इन शहरों में हमारे व्यापार का विस्तार जारी है।”

केनरा एचएसबीसी ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स लाइफ इंश्योरेंस के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी, अनुज माथुर ने कहा, “समग्र व्यापार की वृद्धि के मामले में पिछला साल हमारे लिए काफी अच्छा रहा है। हमारी कंपनी ने दस साल का परिचालन पूरा कर लिया है और संचित घाटे को सफलतापूर्वक पाट लिया है।

केनरा एचएसबीसी ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड का गठन जून, 2008 में हुआ था। इसमें केनरा बैंक की हिस्सेदारी 51 फीसदी, ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स की 23 फीसदी) और एचएसबीसी की 26 फीसदी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *